आतंरिक सुरक्षा अकादमी, केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल

 

समाज में तेजी से हो रहे परिवर्तन के कारण, हिंसा आतंरिक सुरक्षा के लिए काफी संकुल एवं जटिल समस्या के रूप में खड़ी हो चुकी है. आर्थिक विपत्ति सामाजिक असामनता एवं आतंकवादीयो के नए प्रोधोगिकी से लैस होने के कारण प्रशासन को आतंरिक सुरक्षा से निपटने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है अतः इसलिए ये माना गया की, पुलिस अधिकारीयों एवं प्रशासको को आतंरिक सुरक्षा से जुड़े समस्याओं के मध्यनज़र विभिन्न पहलुओं को देखते हुए बेहतर सोच के साथ समस्याओं के समाधान के साथ ही बेहतर औज़ार एवं तकनीक का ईजाद किया जा सके ताकि इन चुनौतियों से निपटा जा सके.

आतंरिक सुरक्षा अकादमी की स्थापना गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आबू पर्वत पर की गयी थी. राजस्थान के अरावली पर्वत पर स्थित हिल स्टेशन जिसकी ऊंचाई जमीनतल से लगभग 1200 मीटर है .

इस अकादमी को आतंरिक सुरक्षा के मुददे एवं उससे संबंधित समस्याओं के निपटाने हेतु उत्कृष्टता केंद्र माना गया हैं. इसके साथ ही इस अकादमी के आतंरिक सुरक्षा एवं संबंधित मुद्दे पर अनुसन्धान के जिम्मेदारी दी गयी है एवं इससमे स्रोतों को बढाने हेतु देश के अन्दर एवं बाहर अन्य संस्थानों के साथ मिलकर कार्य शामिल है .